BLOG

नीति आयोग NITI (National Institution for Transforming India)

  • Why do we need Niti Aayog?
  • Who started Niti Aayog?
  • What is the full form of Niti Aayog?
  • Who is the CEO of Niti Aayog of India?

नीति आयोग NITI  (National Institution for  Transforming India).

  • नीति आयोग(NITI -National Institution for Transforming India) का गठन केंद्र सरकार द्वारा 1 जनवरी 2015 में योजना आयोग के स्थान पर किया गया |
  • सरकार के थिंक टैंक के रूप में सेवाएं देगा और केंद्र व राज्य सरकारों को नीति निर्माण के संबंध में प्रसांगिक महत्वपूर्ण एवं तकनीकी परामर्श उपलब्ध कराएगा |

 संरचना(The structure)

  • अध्यक्ष : भारत के प्रधानमंत्री |
  • गवर्निंग काउंसलिंग में सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और संघ राज्य क्षेत्रों के राज्यपाल (जिन केंद्र शासित प्रदेशों में विधानसभा है वहां के मुख्यमंत्री) शामिल |
  • विशेष आमंत्रित सदस्य: विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ प्रधानमंत्री द्वारा नामित |
  • उपाध्यक्ष : प्रधानमंत्री द्वारा नियुक्त  |
  • सदस्य :  पूर्णकालीन |
  • अंशकालिक सदस्य : आदरणीय विश्वविद्यालय, शोध संस्थानों और अन्य सुसंगत संस्थाओं से अधिकतम 2  सदस्य अंशकालिक सदस्य श्रेणी के आधार पर होंगे |
  • पदेन सदस्य : केंद्रीय मंत्रीपरिषद से अधिकतम 4 सदस्य प्रधानमंत्री द्वारा नामित |
  • मुख्य कार्यकारी अधिकारी :  भारत सरकार के सचिव स्तर का अधिकारी निश्चित कार्यकाल हेतु प्रधानमंत्री द्वारा नियुक्त |
  • सचिवालय : आवश्यकता के अनुसार स्थापना होगी |
  • विशिष्ट मुद्दों और ऐसे आकस्मिक  मामले जिनका संबंध एक से अधिक राज्य क्षेत्रों से हो,  देखने के लिए क्षेत्रीय परिषद यह परिषद विशिष्ट कार्य कार्य के लिए बनाई जाएंगी |
  • भारत के प्रधानमंत्री के निर्देश पर क्षेत्रीय परिषदों की बैठक होगी और इनमें संबंधित क्षेत्र के राज्यों के मुख्यमंत्री और केंद्रशासित प्रदेशों के उपराज्यपाल शामिल होंगे (इनकी अध्यक्षता नीति आयोग के उपाध्यक्ष करेंगे ) |

उद्देश्य /कार्य(The purpose)

  • विकास प्रक्रिया में निवेश और रणनीतिक परामर्श देना |
  • सहयोगात्मक संघवाद का विकास करना |
  • स्थानीय स्तर पर व्यवहारिक योजना बनाने में सहयोग, योजनाओं के उत्तर विकास में मदद करना |राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय विशेषण को प्रैक्टिशनर करो आदि के माध्यम से ज्ञान , नवाचार को विकसित करना |
  • कार्यक्रमों और नीतियों के कार्यान्वयन हेतु प्रौद्योगिकीक्षमता निर्माण का विकास करना |
  • केंद्रराज्यों की ओर चलने वाले एकपक्षीय नीतिगत क्रम को एक महत्वपूर्ण विकासवादी परिवर्तन के रूप में राज्यों की वास्तविक और सतत भागीदारी में बदल दिया जाना |
  • दीर्घकालीन योजना कार्यक्रम निर्माण और उससे समयानुसार आवश्यक परिवर्तन आदि करना |
  • राष्ट्रीय विकास के लिए एक साझा दृष्टिकोण विकसित करना |
  • आर्थिक नियोजन और नीति निर्माण से राष्ट्रीय सुरक्षा को सुनिश्चित करना |

Must read :–
राजभाषा(Official Language)
मूल कर्तव्य (Core Duties)
महत्वपूर्ण संविधान संशोधन(Important Constitution Amendment)
Vice-President -(उपराष्ट्रपति )
भारतीय संविधान(Indian Constitution)
संविधान के स्रोत : प्रकृति एवं विशेषताएं
संविधान की प्रस्तावना(Preamble to the Constitution)
नागरिकता(Citizenship)
मूल अधिकार (Fundamental Rights)
Directive Principles of Policy (Part -4, Articles 36 – 51)

Leave a Reply

Your email address will not be published.